Google सीईओ पिचई से पूछा, ‘चीन के लिए क्यों बदली गूगल नीति’

Sponsored Ads

अमेरिका के छह सांसदों ने गूगल सीईओ सुंदर पिचई को पत्र लिखकर पूछा है कि चीन के लिए सर्च इंजन की नीति क्यों बदली। सांसदों ने पिचाई से सवाल किया कि 2010 के बाद ऐसे क्या बदलाव किए गए जिससे गूगल चीन शासन की कठोर सेंसरशिप के बावजूद उसका साथ देने को तैयार हो गया।

सांसदों ने चिंता जाहिर करते हुए पत्र में लिखा है कि आखिर कैसे गूगल अपनी इस परियोजना के जरिए मानवाधिकार उल्लंघनों में चीन का साथ देने के लिए तैयार हुआ। इन छह सांसदों में फ्लोरिडा के सांसद मार्को रूबियो भी शामिल हैं। गौरतलब है कि हाल में कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में सामने आया कि गूगल चीन में सेंसर्ड सर्च इंजन उतारने के लिए तैयार है। इसके बाद इन सांसदों ने पत्र लिखकर गूगल सीईओ से सफाई मांगी है।

Sponsored Ads

पत्र में गूगल द्वारा चीन की दिग्गज तकनीक कंपनी टेंसेंट से तकनीक हस्तानांतरण संबंधी समझौता करने पर ज्यादा ध्यान केंद्रित किया गया है। इससे पहले 2010 में गूगल ने चीन सरकार की सेंसरशिप नीति का पालन करने से इनकार करते हुए वहां के बाजार से खुद को हटा लिया था। तकनीक दिग्गज कंपनी ने इसके पीछे नैतिकता का हवाला दिया था।

हाल ही में गूगल ने चीन में अपनी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस लैब भी खोली है। चीन के सरकारी अखबार ने पिछले हफ्ते गूगल द्वारा चीन के लिए अलग से सर्च इंजन बनाए जाने की खबरों को खारिज कर दिया था।

Sponsored Ads

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *