मात्र 250 रुपये का सालाना निवेश कर सुरक्षित कीजिए अपनी लाडली का भविष्य, जानें कैसे

By | August 14, 2018

नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। केंद्र सरकार ने साल 2015 में सुकन्या समृद्धि अकाउंट प्रोग्राम की शुरुआत की थी। इस योजना का उद्देश्य लड़की के बेहतर भविष्य को बढ़ावा देना था। india.gov.in के मुताबिक सुकन्या समृद्धि योजना छोटी बच्चियों के लिए एक तरह की स्मॉल डिपॉजिट स्कीम है।

इस योजना से जुड़ी अच्छी खबर यह है कि इस खाते में सालाना मिनिमम डिपॉजिट को 1,000 रुपये से घटाकर अब मात्र 250 रुपये कर दिया गया है। इसका मतलब यह हुआ कि अब से खाताधारक को साल में सिर्फ 250 रुपये न्यूनतम निवेश करने की ही जरूरत होगी। बच्ची के नाम पर उसके पिता सुकन्या समृद्धि अकाउंट खुलवा सकते हैं।

बच्ची के नाम पर कितने अकाउंट खुलवा सकते हैं अभिभावक?

लड़की के माता-पिता या अभिभावक एक लड़की के नाम पर एक ही खाता खुलवा सकते हैं और वो अधिकतम इस तरह के दो खाते अपनी दो अलग अलग बेटियों के नाम पर खुलवा सकते हैं। यह जानकारी पीआईबी की ओर से जारी की गई एक रिलीज में उपलब्ध करवाई गई थी।

जमा पर मिलता है कितना ब्याज?

सुकन्या समृद्धि खाते में जमा पैसे पर 8.1 फीसद की निश्चित दर से ब्याज दिया जाता है। हालांकि सरकार की ओर से इस ब्याज दर में सालाना आधार पर संशोधन भी किया जाता है। इसकी घोषणा आम बजट के दौरान की जाती है।

कितने साल जमा करना होता है पैसा?

यह खाता खुलवाने से लेकर लड़की के 21 साल के होने तर मान्य रहता है। यह अवधि पूरी होने के बाद मैच्योरिटी की रकम उस लड़की को दे दी जाती है जिसके नाम खाता खुलवाया जाता है। अगर 21 साल के पहले लड़की की शादी हो जाती है तो खाता अपने आप बंद कर दिया जाता है।

Sponsored Ads

कहां खुलवा सकते हैं खाता?

इस खाते को आप भारत में कहीं भी किसी भी पोस्ट ऑफिस में खुलवा सकते हैं। वहीं यह खाता बैंकों में भी खुलवाया जा सकता है जिसके लिए नीचे दिए गए बैंक ही अधिकृत हैं।

इलाहाबाद बैंक, आंध्रा बैंक, एक्सिस बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ महाराष्ट्र, केनरा बैंक, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, कारपोरेशन बैंक, देना बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, आईडीबीआई बैंक,इंडियन बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक, ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, पंजाब नेशनल बैंक, पंजाब एंड सिंध बैंक, सिंडीकेट बैंक, यूको बैंक, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, यूनाईटेड बैंक ऑफ इंडिया, विजया बैंक और स्टेट बैंक ऑफ इंडिया।

निकासी:

आप इस खाते में जमा पैसे को लड़की के 21 साल पूरे होने पर ही निकाल सकते हैं। हालांकि यह लड़की के 18 वर्ष पूरे होने के बाद उसी की ओर से निकाला जा सकता है। उच्च शिक्षा या शादी जैसे कामों के लिए खाते में पड़ी 50 फीसद राशि को इस सूरत में निकाला जा सकता है।

टैक्स छूट मिलती है?

आयकर की धारा 80C के अंतर्गत मिलने वाली टैक्स छूट सुकन्या समृद्धि योजना का सबसे फायदेमंद पहलू है। हालिया फाइनेंस बिल में इसे ट्रिपल एग्जेम्प्ट बेनिफिट दिया गया है। यानी इसमें निवेश की जाने वाली राशि, इस खाते से कमाई गई रकम और निकाली जाने वाली रकम तीनों पर ही कोई टैक्स नहीं लगता है।

मैच्योरिटी से पूर्व निकासी?

इस खाते में जमा रकम की मैच्योरिटी से पहले निकासी सिर्फ निश्चित सूरतों में ही की जा सकती है। अगर उस लड़की की मृत्यु हो जाए जिसके नाम पर खाता खोला गया है, तो लड़की के माता-पिता इस राशि के लिए दावा कर सकते हैं।

Sponsored Ads

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *