Google Maps को बिना इंटरनेट ऐसे करें ऑफलाइन इस्तेमाल

By | June 29, 2018

भारत में गूगल मैप्स में आए चार नए फीचर्स, जानें

नई दिल्ली
बात जब कहीं जाने की हो तो रास्ता बताने के लिए सबसे भरोसेमंद है गूगल मैप्स। लेकिन Google Maps सही से काम करे, इसके लिए जरूरी है एक अच्छा इंटरनेट कनेक्शन। हालांकि, अभी भी इंटरनेट कनेक्शन की समस्या होती है और जिसके चलते रास्ते में ऐप काम करना बंद कर देता है। लेकिन अब गूगल मैप्स के पास इस समस्या का हल है। अगर आप कहीं जाने का प्लान कर रहे हैं तो गूगल का ऑफलाइन फीचर आपके काम आएगा। इस फीचर के जरिए आप किसी जगह का मैप डाउनलोड कर सकते हैं और इसके बाद इंटरनेट कनेक्शन न होने पर भी इसका इस्तेमाल नेविगेशन के लिए कर सकते हैं। आपको बताते हैं कि ऐंड्रॉयड व आईओएस यूज़र्स के लिए Google Maps offline कैसे डाउनलोड किया जा सकता है।
ऐंड्रॉयड डिवाइस पर ऑफलाइन इस्तेमाल के लिए मैप ऐसे करें डाउनलोड:
स्टेप 1: अपने ऐंड्रॉयड फोन या टैबलेट पर, गूगल मैप्स ऐप खोलें।
स्टेप 2: सुनिश्चित करें कि आप इंटरनेट से कनेक्टेड हैं और गूगल मैप्स में साइनइन करें।
स्टेप 3: किसी जगह, जैसे कि जयपुर सर्च करें।
स्टेप 4: सबसे नीचे, उस जगह के नाम या अड्रेस पर टैप करें और अब फाइल डाउनलोड कर लें। अगर आपने किसी रेस्तरां जैसी जगह सर्च की है तो, More पर टैप करें और फिर ऑफलाइन मैप डाउनलोड करें।

  

भारत में गूगल मैप्स में आए चार नए फीचर्स, जानें

गूगल ने सोमवार को भारत में गूगल मैप्स के लिए नए फीचर लॉन्च किए। इन नए फीचर्स के साथ किसी ऐड्रेस को शेयर करना न केवल आसान हो जाता है बल्कि ऐड्रेस तेजी से भी शेयर होता है। नए फीचर्स के अलावा, कंपनी ने नेविगेशन ऐप के लिए नई भाषाओं के सपॉर्ट का भी ऐलान किया। जानें उन सभी फीचर्स के बारे में जो सर्च दिग्गज ने भारत में गूगल मैप्स में जोड़े हैं…

भारत में गूगल मैप्स में आए चार नए फीचर्स, जानें

Sponsored Ads

भारत से बाहर गूगल मैप्स में पिछले कुछ समय से प्लस कोड्स इस्तेमाल में लाए जा रहे हैं। अब, इस नए फीचर्स को भारत में भी रोलआउट कर दिया गया है। गूगल ने स्पष्ट किया कि इन अल्फान्यूमेरिक कोड्स में, पहले चार किसी एरिया को दिखाते हैं, जबकि और ज़्यादा संख्या एड करने पर यह उस जगह को ज़ूम इन कर देगा और किसी जगह की ज़्यादा सटीक जानकारी देगा। इन प्लस कोड्स को गूगल मैप्स ऐप में जेनरेट किया जा सकता है और किसी भी टेक्स्ट मेसेजिंग सर्विस के जरिए इन्हें भेजा जा सकता है। इसके अलावा, इन्हें गूगल सर्च बार में पेस्ट भी किया जा सकता है। ऐसा करने से किसी ऐड्रेस के साथ गूगल मैप्स ऑटोमैटिकली खुल जाएगा।

भारत में गूगल मैप्स में आए चार नए फीचर्स, जानें

Add an Address एक और फीचर है जिसे लेकर गूगल को उम्मीद है कि मैप्स में वे लोकशंस भी दिखेंगी जो अभी तक मौज़ूद नहीं हैं। इसके लिए, कोई यूज़र एक लोकेशन पर एक पिन ड्रॉप कर सकता है और इसके बाद वह लोकेशन ऐड्रेन दूसरे यूज़र्स को भी दिखने लगेगी। इस क्राउडसोर्सिंग फीचर के साथ एक वेरिफिकेशन फिल्टर भी अटैच किया गया है।

भारत में गूगल मैप्स में आए चार नए फीचर्स, जानें

गूगल के नए Smart Address सर्च फीचर से भले ही यूज़र्स को सटीक ऐड्रेस न मिले। लेकिन किसी लोकेशन को सर्च कर रहे यूज़र को उसके लैंडमार्क्स के लिए एआई की मदद मिलती है। इस फीचर को खासतौर पर एक नियर-बाय लोकेशन तक पहुंचने के लिए बनाया गया है ताकि यूजर को मदद मिल सके।

भारत में गूगल मैप्स में आए चार नए फीचर्स, जानें

गूगल ने गूगल मैप्स में छह नई भारतीय भाषाओं के लिए भी सपॉर्ट जोड़ा है। यूज़र्स अब बंगाली, गुजराती, कन्नड़, तेलगू, तमिल और मलयाली भाषा में भी वॉयस नेविगेशन सपॉर्ट पा सकते हैं। इससे पहले यह सपॉर्ट हिंदी और अंग्रेजी भाषा में मौज़ूद था।


आईफोन और आईपैड पर ऑफलाइन इस्तेमाल के लिए मैप ऐसे करें डाउनलोड:

स्टेप 1: आईफोन या आईपैड पर, गूगल मैप्स ऐप खोलें।
स्टेप 2: सुनिश्चित करें कि आपके फोन में इंटरनेट कनेक्शन हो और फिर गूगल मैप्स में साइनइन करें।
स्टेप 3: कोई जगह, जैसे उदयपुर को सर्च करें।
स्टेप 4: नीचे की तरफ, अब जगह के नाम या अड्रेस पर टैप करें और फिर More पर टैप करें।
स्टेप 5: Download offline मैप को सिलेक्ट करें।

मैप को डाउनलोड करने के बाद, गूगल मैप्स को सामान्य तरीके से इस्तेमाल करें। अगर आपका इंटरनेट कनेक्शन धीमा या बंद हो गया गया है, तो गूगल मैप्स आपको रास्ता बताने के लिए ऑफलाइन मैप्स का इस्तेमाल करेगा।

Sponsored Ads

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *