स्वरोजगार पाने से आप कहीं चूक न जाएं, अबकी बार महज 600 के लिए है योजना

By | May 11, 2018
स्वरोजगार पाने से आप कहीं चूक न जाएं, अबकी बार महज 600 के लिए है योजना

रीवा। ग्रामीण अंचल में भले युवाओं को जागरूक करने के लिए स्वरोजगार सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है लेकिन जिला व्यापार एवं उद्योग केंद्र की ओर से अबकी बार ज्यादा युवाओं को स्वरोजगार व उद्यम देने की योजना नहीं है। केंद्र की ओर से निर्धारित सीमित लक्ष्य कुछ ऐसा ही बयां कर रहा है।

कुल 928 का निर्धारित है लक्ष्य
उद्योग केंद्र की ओर से इस बार कुल 928 युवाओं व कृषकों को स्वरोजगार व उद्यम देने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। अधिकारियों की माने तो मुख्यमंत्री स्वरोजगार के तहत केवल 600 लोगों को स्वरोजगार देने की तैयारी है जबकि कृषक उद्यमी योजना के तहत 288 और युवा उद्यमी योजना के तहत केवल 40 युवाओं को उद्यम देने की योजना बनाई गई है।

Sponsored Ads

पूरा नहीं कर सके हैं लक्ष्य
केंद्र की ओर से निर्धारित यह लक्ष्य मार्च महीने तक पूरा किया जाएगा। गौरतलब है कि पूर्व के वर्षों में इससे अधिक लक्ष्य जारी होता रहा है। हालांकि उसे पूरा करना अधिकारियों के लिए चुनौती भरा होता रहा है। अधिकारियों की तमाम कोशिश के बावजूद बैंकों से कम लोगों के लिए लोन पास हो सके। नतीजा यह रहा कि अधिकारी लक्ष्य पूरा नहीं कर सके।

दूसरे विभागों के लक्ष्य भी सीमित
युवाओं को इन योजनाओं में दूसरे कई विभागों के लिए भी लक्ष्य निर्धारित है लेकिन जिला व्यापार एवं उद्योग केंद्र की ओर से निर्धारित लक्ष्य भी दूसरे विभागों जितना ही है। गौरतलब है कि ग्रामीण विकास विभाग, शहरी विकास विभाग, हथकरघा विभाग, खादी ग्रामोद्योग बोर्ड, अंत्यावसायी व आजीविका परियोजना जैसे कुछ अन्य विभागों को भी युवाओं को स्वरोजगार देने की जिम्मेदारी मिली है।

योजनाएं व मिलने वाला बजट
मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना
वित्तीय सहायता: 10 लाख रुपए से दो करोड़ रुपए तक
मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना
वित्तीय सहायता: 50 हजार रुपए से 10 लाख रुपए तक
मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना
वित्तीय सहायता 50 हजार रुपए से दो करोड़ रुपए तक
तीनों योजनाओं में ब्याज अनुदान
परियोजना लागत पर 5 प्रतिशत व महिला उद्यमियों को 6 प्रतिशत अधिकतम 7 वर्ष तक के लिए।

Sponsored Ads

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *