गणेश चतुर्थी मुहूर्त, पूजा विधि पर रखें विशेष ध्यान

By | August 27, 2020

Ganesh Chaturthi 2020 –  गणेश चतुर्थी  मुहूर्त, पूजा विधि  पर रखें विशेष ध्यान –  नमस्कार दोस्तों मैं अर्पित जैन आपका अपने इस ब्लॉग की वेबसाइट पर हार्दिक स्वागत करता हूं। जैसे कि आप लोग जानते हैं कि इस साल गणेश चतुर्थी 22 अगस्त 2020 को मनाया जाएगा। पूरे इंडिया में गणेश चतुर्थी को पूरे हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है।

Ganesh Chaturthi 2020 को लेकर पूरे भारत में इस समय पूरी जोर शोर से तैयारी की जा रही है। सभी लोग गणेश चतुर्थी पर अपने घर पर भगवान गणेश जी का स्थापना करेंगे। और उनकी  पूरी विधि विधान से पूजा-अर्चना करेंगे और उनका आशीर्वाद भी प्राप्त करेंगे। 

गणेश चतुर्थी मुहूर्त, पूजा विधि पर रखें विशेष ध्यान

हर साल Ganesh Chaturthi 2020 पूर्व भाद्रपद मास में शुक्ल पक्ष के चतुर्थी तिथि के अनुसार गणेश चतुर्थी पर्व मनाया जाता है। हम आपको बता दें कि हिंदू पंचांग के अनुसार इस दिन भगवान गणेश जी का जन्म हुआ था। इसीलिए इसी दिन हम लोग भगवान गणेश जी का जन्म दिवस भी मनाते हैं और अपने घर पर इनकी स्थापना भी करते हैं।

इस दिन पूरे भारत में सभी लोग भगवान गणेश जी को अपने घर पर इनकी  मूर्ति  की स्थापना करते हैं। और ढोल नगाड़ों के साथ गणपति बप्पा यानी गणेश जी का स्वागत करते हैं।  आइए अब हम जानते हैं गणेश चतुर्थी के शुभ मुहूर्त पूजा विधि के बारे में।

गणेश चतुर्थी शुभ मुहूर्त 2020

Ganesh Chaturthi 2020 22 अक्टूबर 2020 को मनाया जाएगा। Ganesh Chaturthi 2020 की तिथि 21 अगस्त को 11:02 पर स्टार्ट हो जाएगी। और 22 अगस्त को 7:57 पर  समाप्ति हो जाएगी।  आप 11:06 से लेकर 1:42 के बीच भगवान गणेश जी की स्थापना अपने घर पर कर सकते हैं। आपको इस दिन एक विशेष ध्यान देना है कि आप रात को यानी 12 अगस्त की रात को 9:24 से लेकर 9:46 तक  चंद्रमा के दर्शन ना करें।

गणेश चतुर्थी पूजा विधि 

सबसे पहले आप स्नान कर ले। स्नान करने के बाद आप बड़े धूमधाम से भगवान गणेश जी की प्रतिमा को लाकर अपने घर में विराजमान करें। आपको यहां पर एक बात का ध्यान देना है कि आप जहां पर भी गणेश प्रतिमा का विराजमान करें उसके नीचे चौकी अवश्य रखें।

इसके बाद आप एक क्लास में सुपारी डालकर नए कपड़े से उस कलर्स को बांधकर प्रतिमा के पास रख दें। इसके बाद आप अपने पूरे परिवार के  साथ भगवान गणेश जी की पूजा करें। इसके बाद आप भगवान गणेश जी का सिंदूर और दूर्वा अर्पित करें। इसके बाद आप भगवान गणेश जी को लड्डू या मोदक का भोग लगाएं और इसके बाद आप भगवान गणेश चालीसा का पाठ करें । और सबसे अंत में आपको भगवान गणेश जी की  आरती जरूर गाए।

Eating Triphala :- त्रिफला खाने के अद्भुत फायदे और नुकसान जानिए पूरी जानकारी हिंदी में

गणेश चतुर्थी उत्सव

Ganesh Chaturthi 2020 उत्सव पूरे भारत में हर साल भाद्र मास में शुक्ल पक्ष की चतुर्थी के दिन बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। पूरे भारत में इस दिन को भगवान गणेश जी के जन्मोत्सव के रूप में भी मनाया जाता है। भगवान गणेश जी को सभी देवी देवताओं में से सबसे प्रथम पूजनीय माना गया है। इसीलिए जब हम कभी कोई भी शुभ कार्य करते हैं तो सबसे पहले हम भगवान गणेश जी की पूजा करते हैं ।

अगर हम भगवान गणेश जी की सच्चे मन भक्ति से पूजा और अर्चना करें तो भगवान गणेश हमारी सारी विघ्न बाधाएं दूर करते हैं। इसीलिए भगवान गणेश जी को विघ्नहर्ता भी कहा जाता है। गणेश चतुर्थी के दिन भगवान गणेश जी का अपने घर पर विराजमान करके 11 दिन तक पूजा पाठ करते हैं। इसके बाद हम 11 दिन धूमधाम के साथ इन्हें गंगा मैया के गोद में विसर्जित कर  देते हैं।

दोस्तों हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से Ganesh Chaturthi 2020  की शुभ मुहूर्त पूजा की विधि के बारे में पूरी विस्तार से जानकारी दी है। आप भी इस आर्टिकल को अपने फेसबुक व्हाट्सएप इंस्टाग्राम पर शेयर करके सभी लोगों को गणेश चतुर्थी के शुभ मुहूर्त पूजा विधि के बारे में अवश्य बताएं धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *