नमामि गंगे योजना क्या है ? इसका उद्देश्य तथा विशेषताएं

By | August 9, 2020

नमामि गंगे योजना क्या है ? इसका उद्देश्य तथा विशेषताएं – कहा जाता है कि भारत एक सांस्कृतिक देश है । इसकी संस्कृतिकता की झलक इस बात  से झलकती है कि यह देश नदी को भी अपने माता का स्वरूप मानता है । वर्तमान सरकार में गंगा की अविरलता एवं स्वच्छता को लेकर प्रतिबद्ध है उसकी यह प्रतिबद्धता इस बात से प्रदर्शित होती है की सरकार गंगा की सफाई के लिए अनेक कदम उठा रही है इन्हीं कदमों में से एक कदम है नमामि गंगे योजना ।

नमामि गंगे योजना क्या है

नमस्कार दोस्तों मैं आपका साथी एक बार फिर से आप सभी का स्वागत करता हूं हमारे एक बिल्कुल नए आर्टिकल पर जहां आज हम आपको नमामी गंगे योजना से जुड़ी हर एक जानकारी देंगे । दोस्तों अगर आप भी नमामि गंगे परियोजना के बारे में पूरी जानकारी पाना चाहते हैं तो यह आर्टिकल आखिरी तक पडिए।

नमामि गंगे योजना क्या है ?

केंद्र में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र दामोदरदास मोदी सरकार की अगुवाई में नमामि गंगे परियोजना की आधारशिला रखी गई । इस योजना के अंतर्गत गंगा को स्वच्छ तथा अविरल रखने का लक्ष्य है । नमामि गंगे योजना के द्वारा मां गंगा में सिर्फ शुद्ध जल को ही प्रवाहित किया जाएगा। इस योजना को सार्थक बनाने के लिए 25000 मीटर लंबी नदी के मुहाने पर कई सुंदर घाट भी बनाए गए हैं ।

नमामि गंगे परियोजना से पहले भी कई सारी ऐसी योजनाएं आई जिन्होंने मां गंगा की अविरलता को बनाए रखने की पूरी कोशिश की ।इसी कड़ी में 1985 में एक योजना जिसे गंगा एक्शन प्लान के नाम से जाना गया योजना लांच की गई लेकिन इस योजना को इतना बजट नहीं मिल पाया कि यह अपना काम सुचारु रुप से चालू रख पाए ।‌ इस सरकार के नमामि गंगे योजना का काम सार्थक होता दिखाई दे रहा है । इस योजना ने मां गंगा को अपना पुराना स्वरूप देने का काम लगभग पूरा कर दिया है ।

नमामि गंगे परियोजना की शुरुआत कब हुई ?

यह ऐसी योजना है जिस पर 18 वर्षों तक काम किया जाएगा । नमामि गंगे परियोजना की शुरुआत 2014 जून में की गई थी। इस योजना के अंतर्गत लगभग 5 राज्य ऐसे हैं जिनके 151 घाटों को स्वच्छ एवं सुंदर बनाया जाएगा साथ ही साथ मां गंगा के तट पर वृक्षारोपण का काम किया जाएगा जिससे गंगा के किनारे शुद्ध एवं प्राकृतिक हवा उपस्थित रहे ।

नमामि गंगे योजना की विशेषताएं

जब 2014 में भारतीय जनता पार्टी की नरेंद्र मोदी की अगुवाई में सरकार बनी तभी उन्होंने इस बात का सपना देखा था कि वो गंगा की शुद्धता को बरकरार रखेंगे । प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना क्या है ?

अपने कई भाषणों में भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नमामि गंगे परियोजना के बारे में लोगों को जानकारी दी।

  • नमामि योजनाओं के अंतर्गत लगभग 20000 करोड़ की धनराशि निर्गत की गई।
  • नमामि गंगे योजना केंद्रीय जल संसाधन मंत्रालय तथा नदी विकास और गंगा कायाकल्प मंत्रालय के अंतर्गत आती है।
  • नमामि गंगे योजना का उद्देश्य
  • नमामि गंगे योजना का उद्देश्य गंगा के पूर्ण सफाई करना तथा गंगा को प्रदूषण मुक्त बनाना है।
  • नमामि गंगे योजना का उद्देश्य नदी किनारे रहने वाले लोगों आर्थिक उत्थान करना है।
  • नमामि गंगे योजना का उद्देश्य गंगा की वही पुरानी संस्कृति को उभारना है।

साथियों यह आपके लिए नमामि गंगे परियोजना से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी थी। आज हमने आपको इस योजना से जुड़े सभी बिंदुओं के बारे में बताया। हमें उम्मीद है जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित होगी । ऐसी ही और जानकारी पाने के लिए आप हमारे साथ बने रहिए बहुत-बहुत धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *